On Page SEO Kaise Kare in Hindi 2021 | Advance On Page SEO Techniques

किसी भी Website को Rank होने में On Page का सबसे महत्वपूर्ण भूमिका होता है। बिना On Page SEO के कोई भी वेबसाइट का रैंक होना बहुत ही मुश्किल हो जाता है या यु कहिये बिना On Page SEO के कोई भी Website Rank नहीं हो सकता इसीलिए हमे ये जानना बेहद जरुरी है की On Page SEO Kaise Kare क्योकि Off Page SEO भी बाद की बात होती है।

On Page SEO किसी भी वेबसाइट के Ranking में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हो सकता है बिना Off Page SEO के भी अच्छे Authority वाले Website रैंक कर जाये लेकिन बिना On Page SEO के किसी भी वेबसाइट का rank होना नामुमकिन सा है, क्योकि आपके Article लिखने से पहले ही आपके वेबसाइट का On Page SEO होना शुरू हो जाता है।

ऐसा कैसे वो में आपको आज बिलकुल ही Stepwise इस पोस्ट के जरिये बताउगा और अगर आप On Page SEO के बारे में बिलकुल भी नहीं जानते फिर भी आप On Page SEO कैसे करे?

on page seo kaise kare

अगर आप आज बताये गए सारे On Page SEO Techniques को अपने वेबसाइट के लिए Apply करोगे तो आपका On Page SEO बहुत ही ज्यादा Strong हो जायेगा और आपके वेबसाइट के Search Engine Result Page (SERP) में Rank करने की संभावना पूरी तरह से बढ़ जायगा। तो चलिए हम बिलकुल ही बेसिक से Stepwise जानते है की On Page SEO in Hindi और हम अपने वेबसाइट के लिए On Page SEO Kaise Kare in Hindi.

[table id=7 /]

SEO क्या है और क्यों ज़रूरी है | What is SEO in Hindi

SEO एक Process है जिसके द्वारा Search Engine Result Page (SERP) वेबसाइट की Ranking को में Increase करते है और First Page पे Rank कराते है।

जो भी वेबसाइट Search Engine Result Page के पहले Page पे Rank कर रही होती है उनका SEO अच्छे से किया होता है। Website को Rank करने के लिए ये बेहद जरुरी है की आपने अपने वेबसाइट का SEO बहुत अच्छे से किया हो।

SEO एक Organic तरीका है जिसके द्वारा वेबसाइट के रैंकिंग को Improve करते है और इसका मुख्य AIM होता है First Page पे अपने वेबसाइट को रैंक कराना ताकि ज्यादा से ज्यादा Organic Traffic आ पाए।

SEO इसीलिए किसी भी Website के लिए जरुरी है क्योकि इस प्रक्रिया को फॉलो करके हम अपने वेबसाइट को Google जैसे Search Engine में First Page पे रैंक करा सकते है और ज्यादा से ज्यादा Organic Traffic अपने वेबसाइट पे ला सकते है।

SEO क्या होता है और किस तरह से काम करता है जानने के लिए पढ़े: SEO क्या है और कैसे काम करता है 

SEO कितने प्रकार के होते हैं

SEO 3 प्रकार के होते है

  1. On Page SEO: Web Pages को कई सारे On Page SEO Factors के अनुसार Optimize करने के Process को On Page SEO कहते है। जैसे Keywords Optimization, Content Quality, Title और Meta Description और भी कई सारे Factors के अनुसार Web Pages को On Page SEO में Optimize करते है।
  2. Off Page SEO: Off Page SEO एक Technique है जिसके द्वारा वेबसाइट के Ranking को Link Building और भी कुछ Off Page SEO के Factors जैसे Promotion, Social Media Sharing के जरिये Search Engine में Improve करते है।
  3. Technical SEO: Technical SEO में वेबसाइट के Internal Structure पे काम करना होता है। जैसा की आपको पता होगा की सारी वेबसाइट Backend से Coding की ही बनी होती है तो हमे कुछ हद तक Technical SEO में Coding को Optimize करना होता है और कुछ Technical Factors पे भी काम करना होता है जैसे Robots.txt, Broken Links को Fix करना, HTTP और HTTPS को ठीक करना और Redirect जैसे बहुत सारे Technical Aspect पे काम करना होता है।

इन् सारे Topics पे हम Detail में बात कर चुके है जो आपको Menu के SEO Section में मिल जायेगा। आज हम केवल On Page SEO Tutorials in Hindi और कई सारे महत्वपूर्ण On Page SEO techniques के बारे में Detail मे बात करेंगे।

On Page SEO कैसे करे (On Page SEO Techniques in Hindi)

On Page SEO के कई सारे factors होते है जिन्हे फॉलो करके आप बहुत ही अच्छे से On Page SEO कर सकते हो और अपने वेबसाइट को रैंक करा सकते हो। वैसे तो SEO के हज़ारो Parameters होते है लेकिन हमे उनमे से कुछ महत्वपूर्ण On Page SEO factors पे काम करना होता है और हमारी वेबसाइट की रैंकिंग Improve होना शुरू हो जाता है।

हमे On Page SEO मे अपने Web Page को On Page SEO Techniques के अनुसार Optimize करना होता है। तो चलिए जानते है उन On Page SEO Techniques के बारे मे और इसे कैसे अपने वेबसाइट पे Apply करते है।

Keyword Research करें

On Page SEO का शुरुवात ही Keyword Research से होता है। Keyword वो Term है जिसे यूजर Search Engine मे अपने Query का उत्तर पाने के लिए Type करता है।

किसी भी Article को लिखने से पहले Keyword Research करना बेहद जरुरी है क्योकि बिना Keyword Research किये आपको ये पता ही नहीं लग पायेगा की आप जो Content लिख रहे हो उस जानकारी को पाने के लिए User क्या Search कर के वेबसाइट पे आता है।

अगर आपको User के द्वारा उपयोग किये जाने वाले Search Term का पता नहीं होगा तो आप अपने Content को Keyword से Optimize नहीं कर पाओगे और आपके जानकारी के लिए बता दू की Search Engine आपके पुरे Content को Keyword के basis पे ही समझ पता है की आपका Content किस Topic पे है और कौन से Keyword पे रैंक कराना है।

ऐसे मे अगर आपको Target Keyword पता नहीं होगा तो आप Content को Optimize नहीं कर पाओगे और Search Engine का Crawler(Reader) आपके Content के बारे मे अच्छे से नहीं समझ पायेगा जिसके वजह से आपकी वेबसाइट रैंक भी नहीं होगी।

इसीलिए किसी भी कंटेंट को लिखने से पहले बहुत ही अच्छे से Keyword Research करे और अपने Target Keyword को Decide करे ताकि आप अपने Target Keyword से Content को Optimize करके उस Keyword पे अपने वेबसाइट को रैंक करा सको।

Keyword Research के लिए बहुत सारे Tools है जिसके मदद से आप बहुत ही आसानी से Keyword Research कर सकते हो। Keyword Research कैसे करते है ये जानने के लिए निचे दिए गए लिंक पे क्लिक कर Detail मे Stepwise Keyword Research सीखे।

इसे Detail मे जानने के लिए पढ़े: Keyword Research क्या है और कैसे करते है

Original और Quality Content लिखे

Search Engine का एक साधारण सा नियम है Copied Content को रैंक नहीं करना। अगर आप Content कही से Copy करके अपने वेबसाइट में लिखोगे तो आपका कंटेंट कभी रैंक नहीं हो पायेगा इसीलिए कोशिस करे की Original Content लिखे क्योकि Google को Original और Fresh Content सबसे ज्यादा पसंद है।

और दूसरी बात आप जो Content लिख रहे हो वो Quality Content होना चाहिए इसका मतलब ये है की User जो Query Search करके आपके वेबसाइट पे आया है उसका उत्तर उस यूजर को आपके वेबसाइट से मिलना चाहिए।

आपका Content यूजर को कुछ Value प्रदान करता हो। अगर आपका Quality Content नहीं होगा तो यूजर उसे पढ़ना भी पसंद नहीं करेगा जिसके वजह से वो बहुत ही जल्दी आपके वेबसाइट में Enter करके Exit कर लेगा और इससे Google को ये Indication जाता है की आपका Content अच्छा नहीं है और Users के द्वारा पसंद नहीं किया जा रहा है इसीलिए वो आपके वेबसाइट पे ज्यादा देर तक नहीं रहते और इससे आपकी रैंकिंग पहले से भी Down हो जाएगी।

On Page SEO में ये बहुत महत्वपूर्ण है की आपका Content बिलकुल Unique होना चाहिए और Quality Content होना चाहिए जो User के Query का उत्तर दे पाए।

SEO Friendly URLs बनाएं

URL 2 तरह के होते है एक Static URL और दूसरे Dynamic URL। Static URL वो होते है जिसमे केवल स्लैश (/) का ही Sign होता है लेकिन Dynamic URL में बहुत सारे Sign हो सकते है जैसे (=,/,+_) बहुत सारे। हमे हमेसा Static URL ही रखना चाहिए।

खेर जितने भी आज के Content Management System (CMS) based Software है जैसे WordPress, Blogger इन् सबमे Automatically URL Static ही बनते है।

इसीलिए अगर आप इस तरह के किसी Platform पे वेबसाइट बना के काम करते हो तो आपको केवल 2 बातो का ध्यान रखना है जो SEO में बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है पहली बात URL को Short रखे, कोसिस करे URL 5 Words से ज्यादा न हो और आपके URL में आपके Focus Keywords के कुछ Words हो या Keywords Phrase हो।

लेकिन अगर आपकी वेबसाइट Coding पे बनी हुई है तो आप अपने वेबसाइट के URL को Static रखे जिसमे केवल 2 Words के बिच में Slash(/) का ही प्रयोग करे।

SEO Friendly URL लिखने का यही मतलब है की आपके URL में आपका Focus Keywords के कुछ Words या आपका Keywords ही हो या Keywords Phrase हो और दूसरी बात URL ज्यादा लम्बा न हो।

Long Tail & LSI Keywords का उपयोग करें

अपने कंटेंट में आपके Keyword से जुड़े कुछ Keywords जिनका मतलब एक ही जैसा होता है वैसे Keywords का भी उपयोग करे। जैसे की अगर में Target करता हु (On Page SEO Kaise Kare) इस Keyword को तो मुझे इसके LSI Keywords जैसे On Page SEO Tutorial in Hindi या और भी इस तरह के Keywords जो इनसे मिलते जुलते है और उनका Search लोगो के द्वारा किया जाता है तो हमे ऐसे Keywords का भी अपने कंटेंट में उपयोग करना चाहिए।

LSI Keywords का उपयोग करने से Search Engine आपके कंटेंट को बहुत अच्छे से समझ पता है की आपने क्या क्या बताने का कोसिस किया है Content के जरिये। ज्यादा से ज्यादा LSI कीवर्ड्स को अपने Blog Post के Content में लिखे। LSI Keywords कैसे ढूंढ़ते है ये मैंने ऊपर दिए गए लिंक Keyword Research कैसे करे में बताया है, आप उन्हें पढ़ सकते हो।

अगर आपकी वेबसाइट नयी है और ज्यादा Authority नहीं है आपके वेबसाइट की तो आप शुरुवात में Long tail Keywords को टारगेट करे क्योकि ऐसे Keywords पे रैंक होना आसान होता है। एक बार जब आप Long tail Keywords पे रैंक होना शुरू कर दोगे और कुछ Traffic आने लगे फिर आप Short tail Keywords को टारगेट कर सकते हो।

ये भी पढ़े: Keywords कितने तरह के होते है

पहले 100 Words में अपना Target Keyword को लिखे

आपके द्वारा लिखे गए content के पहले 100 words में अपने Target Keyword को जरूर लिखे। जैसे की अगर आपने 1000 words का या 2000 words का एक content लिखा है तो इसके पहले 100 words में अपने Target Keywords को लिखे।

लेकिन Keywords को इस तरह से नहीं लिखे की उसका वह कोई मतलब नहीं बन रहा हो, बल्कि इस तरह से लिखे जैसे आपके Content में वो Keyword अच्छे से Suitable बैठ रहा हो और पढ़ने वाले को ये नहीं लगे की आपने Keyword stuffing किया है, इसका मतलब ये है की बिना मतलब के आपने Keywords डाल दिया है। इसीलिए content को इस तरह से लिखे की आपके पहले 100 शब्दो में आपके Focus Keywords आ जाये।

कोसिस करे की पहले 100 शब्दो के साथ अपने कंटेंट के Last Paragraph में भी अपने Focus Keywords का या Phrase Keywords का उपयोग जरूर करे।

Heading Tags का Proper उपयोग करें

Heading Tags का Proper ढंग से उपयोग करना बेहद जरुरी है। Headings किसी भी content के बारे में बताने में महत्वपूर्ण Role Play करता है और इसके द्वारा Users को पता चल पता है की एक Article में Blogs किस बारे में है।

Headings (H1-H6) तक होते है। जिमे हमे H1 का उपयोग केवल 1 बार ही करना होता है। 1 Content में 1 बार से ज्यादा H1 का उपयोग न करे। और फिर (H2-H6) का इस्तेमाल भी Proper ढंग से करे जैसे अगर आप कोई मैं Topic लिख रहे हो तो उसे H2 में लिखे और इसके Sub Topics को H3 – H4 में लिखे और इस तरह से Header Tags का उपयोग पुरे content में अच्छे से करे और इस तरह से Header Tags को Optimize करे।

Header Tags को Optimize करने के लिए ये भी बेहद जरुरी है की आपके Heading में अपने Keywords का या Phrase Keywords का या LSI Keywords का उपयोग किया हो। इसीलिए ये भी कोसिस करे की आपके कुछ Heading में अपने Focus Keywords का उपयोग हो।

Keyword Stuffing और Keyword Density का ध्यान रखे

अपने Keywords का Proper तरीके से उपयोग नहीं करने को Keyword Stuffing कहते है। आपको इन बातो का ध्यान रखना होगा की अपने पुरे Content के Length Words का केवल 3% तक ही आप Keyword को use कर सकते हो इससे ज्यादा करने पे Keyword Stuffing हो जाता है और गूगल को लगेगा की आप Spamming कर रहे हो जिससे आपकी वेबसाइट रैंक नहीं हो पाएगी।

जैसे की अगर मेरा Content 100 Words का है तो ध्यान रखना होगा की 100 Words का केवल 3% तक ही Keywords का उपयोग कर सकते है मतलब 3 बार तक। इसी तरह से 200 Words के कंटेंट में 200 का 3% तक मतलब 6 बार तक। ये Maximum है लेकिन आपको 3% से हमेशा Keyword के density को कम रखना है इससे ज्यादा बिलकुल भी नहीं होने देना है।

Keyword density का मतलब है Keywords का कितने बार एक Content में उपयोग होना और Keyword density हमेशा 3% से कम ही होना चाहिए।

Meta Title को Optimize करें

SEO Meta Title

Title ही वो पहली चीज़ होती है जिसे देख User सर्च करने के बाद आपके वेबसाइट में Enter करता है। SEO में Meta Title का बहुत ही महत्वपूर्ण Role है। आपको अपने Meta Title को बहुत ही अच्छे से Optimize करना होगा जिसके लिए कुछ बातो का अवश्य ध्यान रखे।

Title में  Keyword लिखे और Title का लेंथ 50-60 Character से ज्यादा न होने दे।

Title का लेंथ ज्यादा होने पे आपका Title Search Engine Result Page में पूरी तरह से नहीं दीखता है इसीलिए आपको खास ध्यान रखने की जरूरत है की आपके Title का Length 55 Character के आस पास ही हो।

Meta Title लिखते समय कुछ बातो का खास ध्यान रखे जैसे:

  • Meta Title Length 50-60 Character तक का ही हो।
  • Meta Title के शुरू में अपने Targeted Keyword का उपयोग करे
  • Unique मेटा Title लिखे

Title में Keywords के साथ साथ आपका Title Attractive होना चाहिए जिसे देख के User को लगे की आपकी वेबसाइट उसके Query को Solve कर देगा क्योकि यूजर Search Engine पे Title देख कर ही Website में क्लिक करता है।

Meta Descriptions को Optimize करें

SEO meta description

Meta Description को भी Proper तरीके से Optimize करना बेहद जरूरी है क्योकि User आपके Title के बाद Meta Description को देखता है। Meta Description लिखने वक़्त कुछ खास बातो का SEO Point Of View से ध्यान रखना बेहद जरूरी है। जैसे ,

Meta Description का लेंथ 50-150 Character के बिच ही होना चाहिए। इससे ज्यादा या कम Length का Meta Description न लिखे। Mobile Phones में Google आपके Meta Description को केवल 120 Character तक दिखता है तो कोशिस करे की आपका Meta Description 120 -140 Character से ज्यादा न हो।

Meta Description में आप अपने Keywords Phrase का उपयोग कर सकते हो।

Meta Description भी थोड़ा Attractive लिखे जो आपके Content के बारे में बताता हो की आपने कौन कौन से महत्वपूर्ण Topic को अपने Content में Cover किया है।

Images को Optimize करे

Search Engine आपके कंटेंट को पढ़ के तो समझ लेता है की आपका Content किस बारे में है लेकिन Search Engine का ये सबसे बड़ा Drawback है की ये हमारे Images को नहीं पढ़ पता है और ये कह सकते हो की Search Engine केवल ये तो जान लेता है की आपने Images का उपयोग किया है लेकिन ये नहीं पता कर पता की आपका Image किस बारे में है।

इसीलिए हमे Images को optimize करना बेहद जरूरी है ताकि हम Search Engine Crawler (Reader) को बता सके की हमारा Image किस बारे में है।

Images को optimize करने के लिए हमे Alt Tag का उपयोग करना होता है। जब भी हम अपने वेबसाइट में इमेज का उपयोग करते है तो Upload करते समय Alt Tag पूछा जाता है जो लिखना बेहद जरूरी है।

Alt Tag में आप अपने Keywords को लिखे और Images से जुड़े अलग अलग Keywords Phrase लिख सकते हो। जिससे Search Engine के Crawler को ये पता चल पाए की आपने अपने Topic का ही Image Use किया है।

बेहतर परिणाम के लिए Alt Tag में अपने Keywords और Keywords Phrase को लिखे।

Outbound Links (External Link) और Internal Links का उपयोग करें

अपने Article में जरुरत के अनुसार External Linking और Internal Linking जरूर करे।

Internal Linking का मतलब है की आपके अपने ही किसी वेबसाइट के Pages का या Blogs का लिंक देना।

External Linking का मतलब है किसी दूसरे वेबसाइट का link अपने वेबसाइट में देना।

External Linking और Internal Linking से आपका Content और भी ज्यादा Informative हो जाता है क्योकि इससे एक साथ आप कई चीज़ो का Information यूजर को दे पाते हो।

और दूसरी बात External और Internal Linking से सर्च इंजन के लिए ये जानना भी बेहद आसान हो जाता है की आपका कंटेंट किस Topic के Around है। क्योकि आप जो भी Link Use करोगे वो पहले से ही Index होता है तो सर्च इंजन को उसके बारे में पता होता है और जब आप उस तरह के Relevant Topic के बारे में लिख के Linking करोगे तो इससे Search Engine को पता लगाने में आसानी होती है की आपका कंटेंट किस टॉपिक के अराउंड लिखा गया है।

External Linking करने वक़्त इन् बातो का खास ध्यान रखना बेहद जरुरी है की आप जिस भी वेबसाइट का link अपने Blog Post में दे रहे हो वो आपके आर्टिकल से Relevant Topic पे हो और उसका Authority भी थोड़ा ठीक हो और वो वेबसाइट Spammy न हो।

तो ये कुछ महत्वपूर्ण On Page SEO के Factor है जिन्हे Follow करके अपने Web Pages को Optimize कर सकते हो और Search Engine Result Page में अपने वेबसाइट के Ranking को Boost कर सकते हो।

Canonical Issue पे ध्यान दे

कभी – कभी ऐसा होता है की आपके एक ही content का 2 अलग -अलग URL बन जाता है जिसे Canonical Issue कहते है। कभी- कभी आप अपने blog के URL में बदलाव करते होंगे लेकिन में आपके लिए ये जानना बेहद जरुरी है की आपके blog का जो भी URL पहले था वो Google में Already Index होगा।

तो जब आप अपने blog के URL में किसी भी तरह का बदलाव करते हो तो आपके वेबसाइट में Blog URL तो Change हो जाता है लेकिन गूगल के लिए ये बिलकुल नई URL होता है जिसके वजह से आपके एक ही कंटेंट को गूगल 2 अलग अलग content URL समझता है और दोनों को अलग अलग कंटेंट की तरह देखता है जिसमे नई वाले URL के कंटेंट को गूगल Copied Content समझता है।

इसीलिए जब भी URL में किसी भी तरह का बदलाव करे तो ये बेहद जरुरी है की Canonical Tag के जरिये आप गूगल को बताओ की आपने अपने URL में बदलाव किया है ताकि गूगल अपने Database से आपके नई URL को पुराने URL से Replace करदे और आपके 1 ही page को 2 अलग-अलग पेज नहीं समझे। इसके लिए Canonical Tag का उपयोग करे।

अगर आप WordPress उपयोग करते है तो SEO Plugins के द्वारा Canonical Tag का उपयोग आसानी से कर सकते हो। आपको Canonical URL के उपयोग करने का Option मिल जायेगा जहा आप अपने नए URL को Mention करदे।

Regularly New Posts लिखें और पुराने Content को Update करे

हमे वेबसाइट पे हमेसा Regular Basis पे नई कंटेंट अपलोड करता रहना चाहिए इससे Crawler को वेबसाइट पे हमेसा नई कंटेंट देखने को मिलेगा और आपकी वेबसाइट जल्दी रैंक होगी। Search Engine Algorithm के अनुसार Fresh और Updated Content को Ranking में ज्यादा मदद मिलती है। नए कंटेंट लिखने के साथ साथ पुराने कंटेंट को समय समय पे अपडेट भी करना बहुत आवश्यक है।

कुछ विशेष SEO Factors

वैसे तो और भी कई सारे SEO के और भी Factors है जैसे वेबसाइट को Mobile Friendly बनाना, Sitemap Submit करना, Robots.txt File बनाना, SSL को Optimize करना, Javascript Optimize करना, Website Loading Speed को Optimize करना और भी कई सारे लेकिन ये सारे Technical SEO के Factors है जो मैं आपको Technical SEO के Tutorial में जरूर इसी तरह से Stepwise बताऊंगा

On Page SEO Techniques के बारे में Quick Tips

on page seo techniques in hindi

दरअसल On Page SEO के में ज्यादातर काम एक ही होता है, अपने Content को Focus Keyword से अच्छे से Optimize करना क्योकि अंततः आपको किसी Keyword पे अपनी वेबसाइट को रैंक कराना है और Organic Traffic लाना है।

इसके लिए सबसे ज्यादा जरूरी यही है की आप सबसे पहले बहुत ही अच्छे से Keyword Research करे और अपना एक Focus Keyword Decide करले और फिर उस Keyword से जुड़े Phrase Keyword और LSI Keywords का लिस्ट बना ले ताकि जब आप कंटेंट लिखो तो उन् कीवर्ड्स को अपने कंटेंट में उपयोग कर पाओ। इस तकनीक से आप बहुत ही जल्द अपने वेबसाइट को रैंक कराना शुरू कर दोगे।

आप ऊपर दिए Image को On Page SEO Checklist के तौर पे सेव करले और अपने Website का On Page SEO करते समय इनपे ध्यान दे।

अगर आप Off Page SEO के बारे में जानना चाहते हो तो ये पढ़े: Off Page SEO क्या है और कैसे करे 

On Page SEO Kaise Kare Advance Techniques – Conclusion

आशा करता हु आपको आज का On Page SEO Tutorial in Hindi जिनमे मैंने आपको बताया की On page seo kaise kare और इसके Techniques के बारे में वो आपको बहुत ही अच्छे से समझ आ चूका होगा और अब आप बहुत ही आसानी से अपने वेबसाइट का On Page SEO कर लोगे।

मैंने आपको On Page SEO in Hindi में जितने भी महत्वपूर्ण Techniques होते है और इनसे जुड़े सारी जानकारी बिलकुल ही बेसिक से बताने का मैंने कोशिस किया है और आशा है आपको समझ भी आ चूका होगा की apni website ka on page seo kaise kare. अगर आप Content लिखने समय इन् सारे On Page Techniques को ध्यान में रखते हुए Follow करते हो तो अवश्य आपके वेबसाइट की On Page SEO अच्छे से हो जायेगा और आपके वेबसाइट की रैंकिंग पोजीशन में भी बढ़ोतरी होना शुरू हो जायेगा।

अगर आपको इसके अलावा भी On Page SEO करने में समस्या आती है तो आप मुझे निचे दिए गए सोशल मीडिया लिंक के जरिये अपने सवाल मुझसे पूछ सकते हो। अगर आपको आज की जानकारी पसंद आयी हो तो कमेंट के जरिये हमे जरूर बताये और अपने सोशल मीडिया पे अवश्य शेयर करे।

10 thoughts on “On Page SEO Kaise Kare in Hindi 2021 | Advance On Page SEO Techniques”

  1. Really it is ultimate guide. wow, that’s great blog. Aapne on page seo ke baare me jo bhi important chize hai saari chize discuss kar diya hai. That’s great.. Mean Unbelieveble ek blog ke jariye on page seo ko complte describe kar dena. I think, It is best tutorial available on internet in hindi language about on page seo.

    Reply
  2. Amazing Hrithik Sir, Brilliant job. Mai kafi time se on page seo sikhne ke liye best platform dhudh rha tha finally iss blog ko padh ke mujhe i think jo aapne btaya hai sari chize samjh aa chuka hai. Aapne complete tutorial bahut ache se btaya hai so thank you so much for such a great information.

    Reply
  3. धनयवाद सर seo की विस्तार जानकारी के लिए. मेरे ख्याल से internet पे on page seo की इतनी विस्तार जानकारी कही नहीं है.

    Reply
    • Alag alag types ke keywords ka matlab h keywords ke alag alg variations jaise ek hi article ko bahut saare trike se search kiya jata hai. Isiliye aap LSI keywords, Phrase keywords, Long tail. In sbka apne article mai use kare. Iska research krna aap hmare keyword research wale blog ko padh ke sikh sakte ho.

      Reply
  4. सर हम जो main title का उपयोग करते है उसके बाद H1 का उपयोग कर सकते है क्या

    Reply
    • Aap jab main title ka use karte ho WordPress ya Blogger mai to wo basically H1 hi hota hai. To aap iske baad dobara H1 ka use na kre. 1 page pe single time hi H1 ka use hona chahiye.

      Reply

Leave a Comment