Technical SEO क्या है और कैसे करे | What is Technical SEO in Hindi

क्या आप जानते है, Technical SEO क्या है और कैसे करे (Technical SEO in Hindi) – Technical SEO किसी भी वेबसाइट के लिए बहुत ज्यादा महवत्वपूर्ण है लेकिन ज्यादातर Bloggers SEO करते समय Technical SEO पे बिलकुल भी ध्यान नहीं देते और केवल On Page SEO और Off Page SEO के बारे में सोचते है। लेकिन अगर आपके वेबसाइट का Technical SEO बहुत अच्छे से नहीं होगा तो आपके वेबसाइट के रैंक करने की संभावना कम हो जाती है।

आपको ये जान कर शायद हैरानी हो की टेक्निकल सो किसी वेबसाइट के लिए ऑफ पेज सो से कही ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योकि बिना इसके आपके वेबसाइट को सर्च इंजन अच्छे से समझ ही नहीं पायेगा तो चलिए इन् साड़ी चीज़ो को डिटेल में जानते है की Technical SEO क्या है (What is Technical SEO in Hindi) और साथ ही साथ आप अपने Website के Technical SEO Kaise Kare. ब्लॉग को अंत तक जरूर पढ़े ताकि आपको पूरी जानकारी मिल पाए।

Technical SEO क्या है | What is Technical SEO in Hindi

what is technical seo in hindi

Technical SEO एक ऐसा प्रक्रिया है जिसके द्वारा हम अपने वेबसाइट का SEO कर Technical और Internal Factors को ठीक करते है और Search Engine को हमारे वेबसाइट को Proper Crawl करने में और Index करने में मदद करते है और अपने वेबसाइट के Ranking को बढ़ाते है।

Technical SEO बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योकि अगर आपके वेबसाइट का Technical SEO अच्छे से होगा तो Search Engine को आपके वेबसाइट के बारे में जानने में और Crawling, Indexing करने में आसानी होगी जिससे Search Engine हमारे Website को Rewards देगा और हमारे वेबसाइट के Ranking को Search Engine Result Page में Improve करेगा।

जैसे की एक उदाहरण के लिए आपको बताता हु। हमारे वेबसाइट का एक Sitemap होता है। Sitemap का मतलब है हमारे वेबसाइट के सारे Important Pages का Map इससे Search Engine को Crawl करने के लिए हमारे Web Pages को ज्यादा ढूंढ़ना नहीं पड़ता है, उसे एक ही जगह Website के सारे महत्वपूर्ण Pages मिल जाते है जिनसे Search Engine का काम आसान हो जाता है।

इसे Regular Update अगर नहीं करो तो भी कोई समस्या नहीं होता लेकिन अगर हम Regular अपने Website का Sitemap Update करे और Submit करे तो Search Engine इसके लिए हमे Rewards देता है और हमारे Website के Ranking को और भी ज्यादा Improve करता है।

तो इस तरह से बहुत सारे Technical SEO Factors है जिनके द्वारा Search Engine Result Page में हमारे वेबसाइट की Ranking Improve होती है। आशा करता हु आपको ये तो समझ आ गया होगा की Technical SEO Kya Hai और कुछ हद्द तक ये भी समझ आ गया होगा की Technical SEO के मदद से कैसे हमारे वेबसाइट की Ranking Improve होती है। चलिए अब देखते है किसी भी वेबसाइट के लिए Technical SEO क्यों जरुरी है।

जाने: SEO क्या होता है और कितने तरह के होते है 

Technical SEO क्यों जरुरी है | Need Of Technical SEO in Hindi

किसी भी Website की Search Engine में First पेज पे Ranking के लिए On Page और Off Page के साथ साथ Technical SEO का भी ऑप्टिमाइज़ होना बेहद जरुरी है। ये बहुत ही ज्यादा जरुरी है की आपके वेबसाइट को Search Engineअच्छे से समझे और Properly Index करे और साथ ही साथ कई सारे Technical SEO का ठीक होना बेहद जरुरी है।

जैसे की आपके वेबसाइट का बहुत ही कम समय में Load होना, हमारे Website के कौन से Page को Search Engine Index नहीं करे ये Search Engine के Crawler (Reader) को बताना, अपने वेबसाइट को Secure रखना और भी बहुत सारी चीज़े।

इस तरह से किसी भी वेबसाइट के लिए ये बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है की Website का Technical SEO proper तरीके से हो पाए ताकि इन् सारी चीज़ो के बारे में Search Engine को पता चल पाए और हमारी Website की Ranking और भी ज्यादा Improve हो सके।

Technical SEO Checklist in Hindi

किसी भी Website का Technical SEO करना बहुत ही आसान होता है लेकिन इसके लिए ये जानना बेहद जरुरी है की Technical SEO Factors कौन कौन से है जिनके basis पे हम अपने Website को Optimize कर सकते है।

तो चलिए में आपको बताता हु की Technical SEO Kaise Kare और साथ ही साथ Technical SEO Factors in Hindi। जिन्हे Follow करके आप अपने Website का Technical SEO बहुत आसानी से कर सकते हो।

#1. SSL (HTTPS) का उपयोग करे

आज के समय में Google ने अपने Ranking Factors में SSL Activation का बहुत ही ज्यादा ध्यान दिया है जिसके वजह से बिना SSL के आपकी Website रैंक नहीं हो पाती है।

जैसा की आपने देखा होगा की जब भी कोई वेबसाइट ओपन होती है तो सबसे आगे एक Lock का Symbol होता है जिसका मतलब है की आपकी वेबसाइट Safe है और आपके वेबसाइट में SSL Activate है और इससे आपके Website के domain नाम के पहले (HTTPS) आता है (Hypertext Transfer Protocol Secure)।

इसका मतलब है की आपकी Website Secure है और ये एक बहुत ही महत्वपूर्ण Ranking Factor है। अगर आपके वेबसाइट में domain के आगे Lock का Symbol नहीं बना आता है और Not Secure लिखा आता है तो आप अपने Hosting Provider से संपर्क करे क्योकि Website का SSL का काम Hosting से ही होता है।

#2. Website को Mobile-Friendly बनाये

जैसा की आपको भी पता होगा की आज के समय में सबसे ज्यादा इंटरनेट का उपयोग लोग अपने Mobile Phones में करते है और हर कोई आज के समय में Mobile Phone का उपयोग करता है तो सोचिये अगर आपकी Website Mobile Friendly नहीं हुई मतलब Mobile Phones में अगर आपकी वेबसाइट अच्छे से नहीं दिखेगी।

आपके वेबसाइट से लोगो को proper Information नहीं मिल पाएगी और अब Google का Crawler जो पहले Desktop Crawler हमारे वेबसाइट को पढता था वो अब ज्यादातर Website को Smartphones के Crawler (Smartphone bot)के द्वारा पढ़ा जाता है।

ऐसे में ये अति आवश्यक है की आपकी Website Mobile Friendly हो और Mobile Phones में भी आपकी Website बहुत अच्छे से चल पाए।

अगर आप जांच करना चाहते हो की आपकी वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली है या नहीं तो इस टूल्स का उपयोग करे: Mobile Friendly Test 

अगर आपकी वेबसाइट Mobile Friendly नहीं है तो आप अपने Website का Theme चेंज कर के देख सकते हो और Mobile Friendly Theme का ही उपयोग करे।

#3. Website Loading Speed को Fast करें

किसी भी वेबसाइट का Loading समय वेबसाइट के ट्रैफिक को बढ़ता है और साथ – साथ आपके वेबसाइट के Ranking को भी सर्च इंजन रिजल्ट पेज में Improve करता है।

अगर आपके वेबसाइट का Loading Time ज्यादा है तो Users Click करने के बाद भी वेबसाइट जल्दी Open नहीं होने पे किसी और Website पे Click कर देंगे जिसके वजह से आपके वेबसाइट का Traffic आधा से ज्यादा कम हो सकता है।

और दूसरी महत्वपूर्ण बात Google के Ranking Factor के अनुसार आपके Website की Loading Speed जितना ज्यादा अच्छा होगा आपकी वेबसाइट उतनी ही ज्यादा रैंक करेगी और आपके वेबसाइट की Loading Speed अगर 3 Second से कम है तो ये अच्छा वेबसाइट Loading Speed होता है।

Website की Loading Speed चेक करने के लिए, इस टूल का उपयोग करे: Website Loading Speed Check

अगर आपके Website की Loading Time ज्यादा है और आपकी वेबसाइट WordPress पे है तो आप कई सारे Plugins जैसे Lazy Load, WP Cache, और भी कई सारे Speed Optimize करने वाले WordPress Plugins का उपयोग करके Website के Loading Time को कम कर सकते हो।

#4. Canonical Issue को ठीक करे

कभी कभी ऐसा होता है की आपने अपने वेबसाइट के किसी page का URL को बदल दिया हो लेकिन पुराने वाला URL गूगल में इंडेक्स हो चूका हो तो ऐसे में गूगल के लिए आपके एक ही Web Pages के 2 URL बन जाते है और गूगल इसे 2 अलग अलग page समझता है।

इसी basis पे गूगल को लगता है की आपके दूसरे पेज पे जो कंटेंट है वो पहले पेज का कॉपी कंटेंट है तो जब एक ही Web Pages के 2 अलग अलग URL बन जाते है तो उन्हें Canonical Issue कहते है।

ऐसे में Search Engine को ये बताना बेहद जरुरी है की आपने केवल URL में बदलाव किया है लेकिन Web Pages एक ही है और Search Engine आपके नई URL को पुराने URL से अपने Database में Replace करदे। इसके लिए अगर आपकी WordPress की Website है तो Yoast SEO Plugin के मदद से Canonical Issue को ठीक कर सकते हो।

#5. Indexing चेक करें

किसी भी वेबसाइट के लिए Indexing सबसे ज्यादा जरुरी है क्योकि अगर आपकी Website की Indexing ही नहीं होगी तो वेबसाइट रैंक नहीं हो सकती है इसीलिए वेबसाइट के रैंकिंग के लिए ये सबसे ज्यादा जरुरी है की आपके द्वारा पोस्ट किये गए कंटेंट का proper Indexing हो रहा हो।

Indexing चेक करने के लिए आप Google Search Console का उपयोग कर सकते हो। Google Search Console में (URL INSPECTION) का एक Option मिल जायेगा और जब आप चेक करोगे तो आपको उसमे पता चल जायेगा की आपके द्वारा पब्लिश किये गए Content का Indexing हुआ है या नहीं।

इसके लिए आपके द्वारा Publish किये गए Pages के URL को Google Search Console के URL Inspection वाले Option में एंटर करे और चेक करे

technical seo checklist in hindi

 

अगर Index नहीं हुई हो तो (Request Indexing) करके Indexing के लिए Request Submit करे।

#6. XML Sitemap बनाये और Update करे

Sitemap के बारे में मैंने आपको शुरू में भी बताया है की ये हमारे वेबसाइट के सारे Pages का Map होता है। सबसे पहले आप चेक करे की आपके वेबसाइट का sitemap बना है या नहीं।

चेक करने के लिए गूगल के सर्च बार में अपने Domain के आगे slash(/) लगाकर (sitemap.xml)  लिखे। जैसे उदाहरण के लिए अगर मुझे अपने वेबसाइट का sitemap चेक करना होगा तो मैं लिखुगा (dminhindi.com/sitemap.xml) मतलब अपने डोमेन नाम के आगे स्लैश (/) लगाकर sitemap.xml लिखे और सर्च करे।

अगर Sitemap बनी होगी तो आ जायेगा और अगर नहीं बनी होगी तो आपको Search Console के द्वारा sitemap बनाना होगा।

Sitemap बनाने के लिए Google Search Console के Sitemap वाले Option में जाये और आप देखेंगे की उसमे आपके वेबसाइट का नाम already आ रहा होगा बस आपको सामने खाली स्पेस में (Sitemap_index.xml) या (Sitemap.xml) दोनों में से किसी एक को लिखना है और सबमिट कर देना है और आपके वेबसाइट का sitemap सबमिट हो जायेगा।

technical seo in hindi

#7. AMP Enable करे

एम्प (Accelerated Mobile Pages) इसे Enable करने से आपकी Website का Speed मोबाइल में बढ़ जायेगा और Mobile Friendly भी हो जायेगा। AMP के उपयोग के लिए आप अगर वर्डप्रेस की वेबसाइट चलाते हो तो AMP का Plugin Install कर सकते हो।

#8. Website को Search Console में Register करे

Website को Search Console में submit करना बेहद जरुरी है क्योकि अभी मैंने ऊपर कुछ Technical SEO के Factors के बारे में discuss किया जो Search Console के द्वारा हो सकता है।

दूसरी बात जब आप अपने Website को Search Console में submit करोगे तो आपकी Website proper तरीके से Crawl और Index हो पायेगा और साथ ही साथ आपके वेबसाइट के जो भी Errors होंगे वो भी आपको Search Console में देखने को मिल जायेगा।

#9.  Robots.txt File Submit करे

Robots.txt वो File होता है जिसके द्वारा हम Search Engine को बताते है की हमारे कौन से Web Pages है जिन्हे Search Engine को Crawl नहीं करना है। इसे में आपको एक उदाहरण के द्वारा समझाता हु।

जैसे की बैंकिंग वेबसाइट पे बहुत सारी Online Transaction होते है तो अगर Search Engine सारे चीज़ो को Crawl करेगा तो इससे Privacy के खतरा बढ़ जायेगा और इस तरह से बहुत सारे Pages होते है जो हम चाहते है की Search Engine Crawl न करे इसीलिए हमे Search Engine को हमे बताना होता है या बोल सकते हो की Instruction देना होता है की कौन से Pages को उन्हें Crawl नहीं करना है।

इसके लिए आपको Robots.txt की File बनानी होती है जिनमे सारे URL का लिस्ट होता है की आपने किस URL को Crawl करने से मना किया है और किसे Allow किया है।

#10. Broken Link को ठीक करे

कई बार ऐसा होता है की आप अपने वेबसाइट के किसी Pages को delete कर देते हो लेकिन दरअसल वो Website का Pages आपके वेबसाइट से तो delete हो जाता है लेकिन Google के Database में Web Pages का URL Indexed रहता है और जब भी कोई Users उस URL पे click करता है तो शायद आपने भी देखा होगा की 404 Error दिखता है या Not Found लिखा आता है।

ऐसे Errors के लिए Google आपके वेबसाइट को Negative Impact देता है क्योकि Users आपके वेबसाइट पे आता है लेकिन उसे कोई भी Information नहीं मिलने के वजह से Exit कर जाता है। इसीलिए ऐसे Errors को ठीक करना बेहद जरुरी है।

इसके लिए आप अपने डिलीट किये गए Pages को किसी दूसरे Pages पे Redirect करले।

आपके वेबसाइट में कितने Broken Links है ये चेक करने के लिए इस Tool का उपयोग कर सकते हो: Broken Link Checker Tool

तो ये था कुछ महत्वपूर्ण Technical SEO Checklist in Hindi और आशा करता हु आपको समझ आ चूका होगा की Technical SEO क्या है – What is Technical SEO in Hindi और Technical SEO कैसे करते है।

अगर आप ों पेज सो के बारे में जानना चाहते है तो पढ़े : On page SEO कैसे करे

ये भी पढ़े: Off Page SEO कैसे करे 

Technical SEO Tutorial in Hindi – Conclusion

मैंने आपको बिलकुल ही बेसिक से Technical SEO के बारे में समझने का प्रयत्न किया है और अगर आप इन् चीज़ो का उपयोग अपने वेबसाइट पे करते हो तो आपकी वेबसाइट की रैंकिंग जरूर Improve होगी और समय समय पे अपने वेबसाइट का Technical SEO audit करते रहे और Optimize करते रहे। अगर आपको Technical SEO in Hindi समझ आया तो कमेंट के जरिये हमे अपनी रे जरूर दे और अगर आपको किसी तरह का Question पूछना हो तो आप हमे Social Media के जरिये पूछ सकते हो या कमेंट के जरिये भी पूछ सकते हो।

2 thoughts on “Technical SEO क्या है और कैसे करे | What is Technical SEO in Hindi”

Leave a Comment