Backlink क्या है और Quality Backlink कैसे बनाते है | What is Backlink in Hindi

backlink kya hai

Backlink Kya Hai – दोस्तों अगर आप Blogging करना चाहते हो या अपने वेबसाइट को गूगल के फर्स्ट पेज पे रैंक कराना चाहते हो तो बैकलिंक के बारे में जानना आपके लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है। अगर आपको पता है SEO क्या है तो आपको पता होगा की SEO मुख्यतः 3 तरह के होते है, On-Page SEO , Off-Page SEO और Technical SEO। और में Backlink के बारे में बताने से पहले आपको बता देना चाहुगा की बैकलिंक बनाना Off-Page SEO के अंडर ही आता है और ये वेबसाइट के रैंकिंग में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वेबसाइट के रैंक होने में Backlink का बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होता है इसीलिए अगर आप ब्लॉग्गिंग शुरू करना चाहते हो या अपने किसी वेबसाइट को गूगल के पहले पेज पे रैंक कराना चाहते हो तो Backlink kya hota hai और Backlink Kaise Banate hai ये जानना आपके लिए बेहद जरुरी है, तो चलिए आज में आपको बताता हु Backlink क्या है, कितने तरीके के होते है और कैसे बनाते है।

Backlink क्या है | What is Backlink in Hindi

Backlink एक तरह का लिंक होता है जिसपे क्लिक करने पे एक वेबसाइट से दूसरे वेबसाइट तक आसानी से जा सकते है और एक वेबसाइट का लिंक (URL) दूसरे वेबसाइट पे होना जिसपे क्लिक कर एक वेबसाइट से दूसरे वेबसाइट पे जाया जा सके उसे Backlink कहते है। आप इसे 2 वेबसाइट के पेज या ब्लॉग के बिच का रास्ता भी कह सकते हो। इसे में आपको और भी सरल कर के उदाहरण के द्वारा समझाता हु, जब आप कोई ब्लॉग पोस्ट पढ़ रहे होते हो या किसी भी वेबसाइट को पढ़ रहे होते हो तो आपने देखा होगा आर्टिकल्स मे लिंक होता है जिसपे क्लिक करने के बाद आप किसी दूसरे वेबसाइट पे Redirect हो जाते हो, दरसल वो Backlink होता है तो ये था Backlink Meaning in Hindi।

backlink kya hai

Backlink से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण Terms | Related Terms to Backlinks in Hindi

  1. Link Juice: जब हमे किसी वेबसाइट से Do-Follow बैकलिंक मिलती है तो उस वेबसाइट से हमारे वेबसाइट तक एक अथॉरिटी की लिंक जूस आती है जो वेबसाइट को रैंक करने मे मदद करती है और अथॉरिटी को भी बढाती है।
  2. Quality Backlinks कैसे बनाये: क्वालिटी Backlink वैसे backlinks को कहते है जिनसे हमारे वेबसाइट पे ट्रैफिक के साथ साथ अथॉरिटी भी बढे इसीलिए क्वालिटी Backlink बनाने के लिए हमे अपने वेबसाइट के निचे वाले वेबसाइट मे Backlink बनाना चाहिए ताकि जब एक जैसे टॉपिक को लेकर किसी वेबसाइट पे यूजर आये तो हमारे वेबसाइट पे भी Backlink के द्वारा आना पसंद करे अपने समस्या के उत्तर के लिए और हमारे वेबसाइट के कंटेंट को भी पढ़े।

Backlink कितने प्रकार के होते है | Types Of Backlinks in Hindi

  1. Do-Follow Backlink: वैसा Backlink जिनमे पूरी तरह से लिंक जूस पास होता है उन्हें Do-Follow Backlink कहते है और इनका पूरा फायदा वेबसाइट के अथॉरिटी पे पड़ता है। Do-Follow Backlink वेबसाइट के रैंकिंग में बहुत ही प्रमुख और सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जिनसे वेबसाइट की रैंकिंग बढ़ना शुरू होता है। और हमे Do-Follow Backlink ही ज्यादा बनाना चाहिए साइट के रैंकिंग के लिए वो भी अच्छे अथॉरिटी वाले साइट से।
  2. No-Follow Backlink: No-Follow Backlink वो बैकलिंक है जिनमे बैकलिंक का लिंक जूस पास नहीं हो पता है इनमे No-Follow का एट्रिब्यूट लगा होता है जो लिंक जूस को पास करने से रोक देता है और बैकलिंक का फायदा हमे बहुत ज्यादा नहीं मिल पाता है। No-Follow Backlink में No-Follow (rel=”nofollow”) का टैग लगा होता है जिससे गूगल को पता चल जाता है की इस लिंक को फॉलो नहीं करना है और इससे लिंक जूस पास नहीं हो पाता है।No-Follow Backlink का वेबसाइट के रैंकिंग पे फर्क नहीं पड़ता है लेकिन फिर भी No-Follow बैकलिंक वेबसाइट के लिए बहुत जरूरी है। अगर आपके वेबसाइट पे सारे बैकलिंक Do-Follow होंगे तो गूगल को ऐसा लगेगा की आपने स्पैमिंग की है और गलत तरीको से Backlink बनाया है इसीलिए वेबसाइट में दोनों तरह के Backlink का होना बहुत जरूरी है और हमे 100 में से 20 No-Follow Backlinks भी जरूर बनाना चाहिए।

Blogging क्या है और कैसे शुरू करे पूरी Stepwise जानकारी 

Backlink के क्या फायदे है | Benefits Of Backlink in Hindi

Backlinks के फायदे की बात करे तो किसी भी वेबसाइट के रैंकिंग मे कंटेंट के बाद Backlink का सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका होता है और Backlink के कई फायदे है लेकिन मुख्यतः 2 प्रमुख फायदे है।

चलिए देखते है Backlink के 2 महत्वपूर्ण फायदे क्या है।

  1. Traffic बढ़ना : Backlink बनाने से वेबसाइट के ट्रैफिक मे काफी हद तक बढ़ोतरी होती है। जैसा की मैंने आपको पहले ही बताया की बैकलिंक क्या है, जिससे हम एक वेबसाइट से दूसरे वेबसाइट तक आसानी से जा सकते है तो जब हम किसी वेबसाइट पे अपने वेबसाइट का बैकलिंक बनाते है तो उस वेबसाइट का ट्रैफिक हमारे वेबसाइट पे भी आता है जिससे हमारे वेबसाइट का ट्रैफिक भी बढ़ जाता है। अब आप खुद सोचिये अगर किसी वेबसाइट का ट्रैफिक बहुत ज्यादा है लाखो में है तो उनके जब उनके वेबसाइट पे लाखो लोग आते है तो अगर उनके वेबसाइट पे हमारे वेबसाइट का लिंक रहेगा तो कुछ न कुछ ट्रैफिक तो हमारे पास भी आएगा तो इस तरह से बैकलिंक का जो सबसे बड़ा फायदा है वो है ट्रैफिक बढ़ना।
  2. Authority (अथॉरिटी) बढ़ना : Quality Backlink बनाने से वेबसाइट की अथॉरिटी भी बढ़ने लगती है। अथॉरिटी का मतलब है वैल्यू और इसी वैल्यू को मापने के लिए वेबसाइट के DA (Domain Authority), DR (Domain Rating), PA (Page Authority) को देखा जाता है, अगर आपको नहीं पता की DA, DR, और PA क्या होता है तो आगे दिए गए लिंक पे क्लिक कर के आप सो आर्टिकल हिंदी मे पढ़ सकते है। और क्वालिटी का मतलब है हाई डा प् और अच्छे वेबसाइट से Backlink लेना जिनका ट्रैफिक भी अच्छा हो।SEO क्या है और कैसे काम करता है – पूरी जानकारी

    Quality Backlink से वेबसाइट की अथॉरिटी के साथ साथ Trust Flow (TF)  गूगल और दूसरे भी Search Engine के नज़र मे बढ़ती है और और इसका फायदा वेबसाइट के रैंकिंग को मिलता है। आपने देखा होगा की जो वेबसाइट 1st पेज पे रैंक कर रही होती है उनमे ज्यादातर वेबसाइट बहुत अच्छी वेबसाइट होती है जिनका डा, प् अच्छा होता है क्योकि ऐसे वेबसाइट के ऊपर सर्च इंजन को भी ट्रस्ट होता है और ऐसे वेबसाइट को रैंकिंग मे मदद मिलती है इनके अथॉरिटी का।

तो ये 2 बैकलिंक के मुख्य फायदे है जिनसे केवल ट्रैफिक मे ही नहीं अथॉरिटी मतलब वेबसाइट के वैल्यू मे भी बहुत फर्क पड़ता है जिनके वजह से इनका फायदा ब्लोग्स/pages के रैंकिंग मे  भी मिलता है।

Backlink किस तरह से काम करता है | Works Of Backlinks in Hindi

Backlink से ट्रैफिक बढ़ता है ये तो आपको समझ आ चूका होगा तो चलिए में आपको बताता हु वेबसाइट के अथॉरिटी पे Backlinkका किस तरह से काम होता है।

आप जिस भी वेबसाइट पे Backlink बनाते हो उस वेबसाइट का कुछ वैल्यू होता है और Backlink से मिलने वाले फायदे Backlink के प्रकार पे भी निर्भर करता है, जैसे की अगर किसी वेबसाइट के ब्लोग्स के कंटेंट में हमारे वेबसाइट को Backlink मिले तो उसका वैल्यू ज्यादा होता है और वही अगर हमारा लिंक किसी पोस्ट के कमेंट में हो या प्रोफाइल बनाते समय वेबसाइट देकर बैकलिंक बनाये तो इसका वैल्यू थोड़ा कम होता है, तो इस तरह से Backlink की वैल्यू बैकलिंक बनाने के प्रकार पे भी निर्भर करता है।

backlinks kya hota hai

अब में आपको बतात हु अगर कोई वेबसाइट अपने किसी ब्लोग्स में या पेजेज में हमारे वेबसाइट को लिंक दे तो किस तरह से उनका वैल्यू हमे मिलता है। जैसा की मैंने बताया की Do-Follow Backlink Website के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है, तो जब Do-Follow बैकलिंक हमे मिलती है तो लिंक जूस दूसरे वेबसाइट से हमारे वेबसाइट तक पहुँचता है और गूगल या किसी भी सर्च इंजन को ऐसा लगता है की दूसरी अच्छी वेबसाइट अगर किसी वेबसाइट को Backlink दे रही है इसका मतलब ये वेबसाइट भी अच्छा है और अच्छे वेबसाइट जिनकी Authority पहले से ज्यादा होती है उनसे Do-Follow  बैकलिंक लेने से हमारे Authority भी बढ़ने लगती है।

Backlink कैसे बनाते है | How to Make Backlink in Hindi

Backlink बनाने के बहुत से तरीके होते है जिसके द्वारा हम आसानी से Backlink बना सकते है। फ़िलहाल में आपके सामने Backlink बनाने के कुछ तरीको का नाम साझा करता हु जिसके बारे मे आने वाले पोस्ट मे विस्तार से बताउगा।

Backlink बनाने के तरीको का नाम कुछ इस प्रकार है:

  1. Directory Submission Backlink
  2. Blog Commenting Backlink
  3. Social Bookmarking Backlink
  4. Article Submission Backlink
  5. Classified Posting Backlink
  6. Image/Graphic Submission
  7. Blog Submission Backlink
  8. Profile Creation Backlink
  9. Guest Post Backlink
  10. Web 2.0 Backlink

मैंने आपके साथ 10 Backlink बनाने के तरीको का नाम साझा किया है और भी बहुत सारे तरीके है Backlink बनाने के लेकिन ये कुछ तरीके उनमे से सबसे ज्यादा प्रमुख और प्रसिद्द तरीके है जिनसे लोग Backlink बनाना सबसे ज्यादा पसंद करते है।

Backlink बनाना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है क्योकि अगर आपके वेबसाइट का अथॉरिटी कुछ भी न हो तो आपके वेबसाइट की वैल्यू गूगल के लिए ज्यादा नहीं होती है और users भी High DA, PA वाली वेबसाइट को ही ज्यादा अच्छा मानती है। तो आशा करता हु आपको समझ आ गया होगा की Backlink kya hai और Backlink से जुडी सारी जानकारी समझ आ चुकी होगी लेकिन अगर फिर भी आपके पास प्रश्न है तो आप हमे social media के द्वारा पूछ सकते हो या comment कर भी पूछ सकते हो। अगर post पसंद आया हो तो कमेंट के द्वारा बताये और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पे शेयर जरूर करे।

Leave a Comment